पंजाब में बढ़े कोविड-19 के British Version के मामले, 478 सैंपल में से 90% में हुई पुष्टि

covid 19

कोविड-19 के British Version के केस ज्यादा सामने आ रहे हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को कहा कि कोरोना वायरस के 478 नमूने ‘जीनोम सीक्वेसिंग’ के लिए भेजे गये थे, जिनमें से 90 प्रतिशत में ब्रिटेन में सामने आए इसके स्वरूप की पुष्टि हुई है। एक आधिकारिक बयान के मुताबिक मुख्यमंत्री ने कोविड-19 महामारी की स्थिति पर चिंता प्रकट करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से टीकाकरण का दायरा बढ़ाते हुए 60 साल से कम उम्र के लोगों को भी टीका लगाने का अनुरोध किया है।

टीकाकरण तेज़ करे सरकार

सिंह ने लोगों से टीका लगवाने की भी अपील की और इस बात पर जोर दिया कि केंद्र सरकार को आबादी के बड़े हिस्से के लिए टीकाकरण का दायरा फौरन बढ़ाने की जरूरत है। उन्होंने कहा, ‘प्रक्रिया को तेज करने की जरूरत है। ‘ उन्होंने इस बात का जिक्र किया कि कोविशील्ड टीका कोविड-19 के ब्रिटेन में सामने आए स्वरूप पर भी समान रूप से कारगर है। सिंह ने कहा कि संक्रमण की सीरीज़ को तोड़ने के लिए अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण करना आवश्यक है।

कोविड-19 के British Version

covid1200-3

सरकार ने मंगलवार को इस बात से इनकार किया कि देश में कोविड टीकाकरण की गति धीमी है। इसके साथ ही सरकार ने जोर दिया कि देश में कोविड टीके की कोई कमी नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने टीकाकरण की गति धीमी होने के विपक्ष के दावे को खारिज करते हुए कहा कि अब तक करीब 4.85 करोड़ लोग कोविड टीके की खुराकें ले चुके हैं। हर्षवर्धन ने कहा कि एक दिन पहले ही 24 घंटों के दौरान करीब 32 लाख लोगों ने टीके लगवाए।

British Version-पंजाब से काफी संख्या में लोग ब्रिटेन में रहते हैं

तलवार ने मुख्यमंत्री को इस बात से अवगत कराया कि वायरस का का ब्रिटिश स्वरूप बी.1.1.7 कहीं अधिक संक्रामक है। बयान में कहा गया है, ‘राज्य सरकार ने कोविड के 478 पॉजिटिव नमूने जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे थे, जिनमें से 90 नमूनों के नतीजे प्राप्त हुए हैं और उनमें से सिर्फ दो नमूने में एन440के (कोरोना वायरस का एक स्वरूप) मिला है।’

स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू बोले- अलग-अलग तबको से लिये थे सैंपल

पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि जिन नमूनों में वायरस के ब्रिटेन में सामने आये स्वरूप की मौजूदगी मिली है वे आबादी के विभिन्न तबकों से लिये गये थे। सिद्धू ने कहा, ‘इसका मतलब है कि वायरस का यह स्वरूप बड़ी तादाद में फैला है, जो हमारे लिए गंभीर चिंता का विषय है क्योंकि इसके संक्रमण की दर अधिक है। ‘ उन्होंने कहा कि चिंता की बात यह है कि कई युवा भी संक्रमित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में शहरी इलाके अधिक प्रभावित हुए हैं। हालांकि मृत्यु दर ग्रामीण इलाकों में अधिक है।

British Version के खतरे

ब्रिटेन में सामने आए वायरस के नये स्वरूप से खतरे के बारे में पूछे जाने पर तलवार ने कहा, ‘यह संक्रामक है और इसके संक्रमण की दर मूल वायरस से कहीं अधिक है। स्वरूप में ज्यादा अंतर नहीं है लेकिन ब्रिटिश स्वरूप कहीं अधिक तेजी से फैलता है और युवा भी संक्रमित हो रहे हैं। ‘ पंजाब में सोमवार को कोविड -19 के 2,319 नए मामले सामने आए थे।