मनोरंजन जगत को बड़ी राहत, एक्टर्स, क्रू को 25L का कोविड-19 बीमा कवर

shooting

मनोरंजन जगत को बड़ी राहत मिली है। इसी के साथ मुम्बई में तीन महीने के बाद 23 जून से इक्का-दुक्का टीवी सीरियलों की शूटिंग के अलावा किसी भी तरह की शूटिंग नहीं शुरू हो पाई थी. तमाम मु्द्दों पर सहमति के अलावा कामगारों व तकनीशियनों की संस्था फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉइज (FWICE) और कलाकारों के हितों का ध्यान रखने वाली सिने एंड टेलीविजन आर्टिस्ट्स एसोसिएशन (CINTAA) ने कोविड-19 के मद्देनजर अपने मजदूरों/तकनीशियनों और कलाकारों के लिए इंश्योरेंस की मांग की थी.

मनोरंजन जगत को बड़ी राहत, शूटिंग से जुड़े किसी भी कलाकारों को बीमा कवर

उल्लेखनीय है कि एक लम्बी तनातनी के बीच इंडियन फिल्म ऐंड टेलीविजन प्रोड्यूसर्स काउंसिल (IFTPC), FWICE और CINTAA में बुधवार की शाम को हुई एक वर्चुअल मीटिंग के दौरान इस बात पर सहमति बन गयी है. इस बैठक में फैसला लिया गया कि शूटिंग से जुड़े किसी भी कलाकार, मजदूर अथवा तकनीशियन की कोरोना वायरस से होनेवाली मौत की सूरत में 25 लाख रुपये का बीमा कवर दिया जाएगा. इसके अतिरिक्त अगर कोई शख्स कोविड-19 के संक्रमण का शिकार होता है, तो उसे इलाज के लिए 2 लाख रुपये का बीमा कवर मिलेगा.

IFTPC ने बीमा कवर के अलावा कोरोना वायरस के मद्देनजर होनीवाली शूटिंग के दौरान सभी तरह के सरकार द्वारा दिये गये दिशा-निर्देशों को भी कड़ाई से लागू करने का आश्वासन दिया है.

इन बातों पर भी बनी सहमति

casual-films-shoot

इस बैठक में कलाकारों व तकनीशियनों को कम से कम पहले तीन महीने के लिए 90 दिनों की बजाय 30 दिनों में मेहनताना चुकाए जाने, कलाकारों पर किसी तरह की पाबंदी लगाये बगैर उनके मेहनताना में कमी लाने पर परस्पर बातचीत करने और शूटिंग शुरू करने‌ में देरी किये बगैर काम-काज करने के तरीके को और आसान बनाने के लिए सभी हितधारकों से लगातार संवाद कायम करने पर भी सहमति दर्शायी है.

FWICE के अध्यक्ष बी. एन. तिवारी ने कहा कि उनकी संस्था और CINTAA की ओर से मौत की सूरत में हरेक शख्स के लिए 50 लाख रुपये के बीमा कवर की मांग की थी, लेकिन सहमति 25 लाख रुपये को लेकर बनी.

मनोरंजन जगत को बड़ी राहत, प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया, FWICE और CINTAA का फैसला

उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर सहमति से अधिकतर सीरियलों की शूटिंग का रास्ता साफ हो गया है, लेकिन कंटेटमेंट जोन में शूटिंग करने की इजाजत फिलहाल किसी को नहीं मिली है और शूटिंग वाली जगहों पत सोशल डिस्टांसिंग से लेकर तमाम तरह के नियमों के पालन‌‌ करने की जिम्मेदारी सीरियल निर्माताओं की होगी.

बी. एन. तिवारी ने बताया कि फिल्म कलाकारों, मजदूरों व तकनीशियनों के लिए तय की जानेवाली बीमा राशि को लेकर प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया, FWICE और CINTAA के बीच शुक्रवार को एक बैठक होगी और उस मीटिंग में बीमा कवर के अलावा फिल्मों की शूटिंग शुरू करने के बारे में भी चर्चा होगी.