झूठी है अज़हर मसूद के मरने की खबर, पाकिस्तानी मंत्री ने कहा-ज़िंदा है आतंकी

maulana massod azhar

दो दिन पहले पाकिस्तानी मीडिया में आतंकी अज़हर मसूद के मरने की खबर खूब प्रसारित हुईं। भारत में इस खबर से खुशी की लहर थी लेकिन इसी बीच वहां के कुछ नेता दावा करने लगे कि मुंबई हमले का मास्‍टरमाइंड भारत का सबसे वांछित आतंकवादी और जैश-ए-मोहम्मद का सरगना मसूद अजहर जिंदा है। रविवार को पाकिस्‍तानी मीडिया में ऐसी खबरें आयी कि मौलाना मसूद अजहर के मौत की खबर अफवाह है। मौलाना मसूद जिंदा है. वहीं सोमवार को पाकिस्‍तान के पंजाब प्रांत के मंत्री फैयाज उल हसन चौहान ने भी कहा कि मौलाना मसूद अजहर जिंदा है और उसकी मौत की कोई जानकारी नहीं हैं। रविवार को पाकिस्तानी मीडिया की एक खबर में अजहर के परिवार के करीबी सूत्रों के हवाले से बताया गया कि मसूद जिंदा है।

मसूद के मरने की खबर पर जिओ न्यूज़ का हवाला

जियो उर्दू न्यूज ने बताया कि जिन मीडिया रिपोर्टों में जैश-ए-मोहम्मद के नेता के मारे जाने का दावा किया गया है, वे झूठे हैं। यह खबर सोशल मीडिया पर चल रही उन अटकलों के बीच आयी है कि इस आतंकी संगठन के संस्थापक की मौत हो गयी।

फवाद चौधरी का दावा

पाकिस्‍तान के संघीय सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने अजहर की मौत के दावों वाली मीडिया रिपोर्टों के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘मुझे इस समय कुछ भी मालूम नहीं है।’ भारतीय अधिकारियों ने कहा कि उन्हें इसके अलावा कोई जानकारी नहीं है कि अजहर का सेना के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है। उसके गुर्दे खराब हो चुके हैं।

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में बहावलपुर के रहने वाले अजहर ने 2000 में जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन बनाया था। वर्ष 1999 में तत्कालीन राजग सरकार ने इंडियन एयरलाइन्स के अपहृत विमान आईसी-814 को छुड़ाने के बदले अजहर को छोड़ दिया था। 50 साल के अज़हर पर 2001 के संसद हमले की साजिश रचने का, जम्मू कश्मीर विधानसभा पर आत्मघाती हमले और पठानकोट वायु सेना केंद्र तथा पुलवामा आतंकी हमले की साजिश रचने के भी आरोप हैं।