ब्रेन सर्जरी के दौरान कुरान पढ़ता रहा मरीज़

ब्रेन सर्जरी में कई कॉम्पलीकेशन्स आती हैं इसलिये डॉक्टर लगातार मरीज़ को कुछ गुनगुनाने को कहते हैं। ताकि उनका ध्यान डायवर्ट कर सकें और ब्रेन भी एक्टिव रहे। कुछ दिन पहले जयपुर के नारायणा अस्पताल में 3 घंटे चली एक सर्जरी के दौरान मरीज के हनुमान चालीसा पढ़ने की खबर आई थी, ऐसी ही एक खबर अब मरीज़ के कुरान पढ़ने की भी है।

अजमेर में सर्जरी का एक अनोखा मामला सामने आया है। यहां ब्रेन ट्यूमर की सर्जरी के दौरान मरीज आराम से कुरान पढ़ता रहा। प्राइवेट हॉस्पिटल में की गई इस सर्जरी का वीडियो सोशल मीडिया पर चर्चा में है।

अब्दुल नाम के शख्स को ब्रेन ट्यूमर था। उसे सुनाई भी कम दे रहा था. इसके बाद डॉक्टरों ने उसे सर्जरी कराने की सलाह दी। इस दौरान उसे बेहोश नहीं किया गया।

डॉक्टरों ने अब्दुल की सर्जरी को सफल बताया है। हालांकि, सर्जरी के दौरान मरीज के धर्मग्रंथ पढ़ने का ये पहला मामला नहीं है।


कई लोगों का मानना है कि लोगों के मन में धार्मिक आस्था होती है। कठिन वक्त में धार्मिक पाठ करने से उन्हें आत्मबल मिलता है। आपको बता दें कि अब्दुल को हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गई है।

दिसंबर 2018 में आई खबर के मुताबिक, जयपुर में हुलास मल जांगीर की सर्जरी की गई तब वह लगातार हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here