Animal Home में बनते हैं गेस्ट, जानवरों से मिलें उनके घर में

Animal Home में बनते हैं गेस्ट। हम सब को जू घूमना तो बहुत अच्छा लगता है मगर किसी जानवर को उसके अपने परिवेश यानी जगल में देखने का रोमांच ही कुछ और है। दिल्ली के पास कई वाइल्ड लाइफ सैंचुरी या नैश्नल पार्क हैं जहां हम अपने आने वाली छुट्टियों में घूमने का प्लान बना सकते हैं।

काॅर्बेट टाइगर रिजर्व

यह फेमस टाइगर रिजर्व नैनीताल जिले के रामनगर में स्थित है। दिल्ली से यहां का डिस्टेंस 230 किमी के लगभग है। यहां खूबसूरत लैंडस्केप के साथ-साथ टाइगर, हाइना (लकरबग्घा), प्रौक्यूपाइन(शाही), मोर, सांबर डियर आदि देखने को मिलेगा। यहां आप खुली जिप्सी में वाइल्डलाइफ सफारी का मज़ा ले सकते हैं। नवंबर के मध्य से लेकर जून तक यहां आने का बेस्ट समय है।

Animal Home में बनते हैं गेस्ट, नेश्नल पार्क

यह पार्क देहरादून में है। दिल्ली से यहां की दूरी लगभग 220 किमी है। यहां पर आपको एशियाई हाथी, तेंदुआ और गोरल (एक प्रकार का हिरन) देखने को मिल जाएगा। यहां आप खुली जिप्सी में सफारी के साथ बर्ड वाॅचिंग, ट्रैकिंग आदि भी कर सकते हैं।

Animal Home में बनते हैं गेस्ट, सरिस्का नेश्नल पार्क

यह पार्क राजस्थान के अलवर जिले में है। दिल्ली से यहां की दूरी लगभग 230 किमी है। यहां आपको लकड़बग्घा, तेंदुआ, शाही आदि देखने को मिल जाएगा। हालांकि यह पार्क एक टाइगर रिजर्व है मगर यहां टाइगर दिखना बहुत मुश्किल है। इस समय यहां लगभग 14 बाघ हैं। सरिस्का के पास ही भारत का सबसे हाॅन्टेड प्लेस ( प्रेतबाधित क्षेत्र) भानगढ़ किला स्थित है। आप यहां भी घूमने जा सकते हैं मगर याद रहे रात में भूले से भी किले के पास न जाना।

केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान

राजस्थान के भरतपुर जिले में स्थित यह पार्क मुख्य रूप से बर्ड सैन्चुरी है। हर साल यहां खासकर सर्दियों में लाखों की संख्या में प्रवासी पक्षी आते है। दिल्ली से यहां की दूरी लगभग 190 किमी है। आप पैदल चलकर या साइक्लिंग करके यहां बर्ड वाॅचिंग कर सकते हैं। यहां बोट सफारी का भी आनंद उठाया जा सकता हैं। नवंबर के मध्य से मार्च तक आप यहां आ सकते हैं।

रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान

यह पार्क राजस्थान के सवाई माधोपुर जिले में स्थित है। दिल्ली से रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान की दूरी लगभग 360 किमी( रेलमार्ग से) व 405 किमी (सड़क मार्ग से) है। यहां आपको टाइगर, भालू, तेंदुआ, दलदली मगरमच्छ, सांबर डियर आदि दिख सकते हैं। यहां आप खुली जिप्सी या कैंटर में सफारी कर सकते हैं। सैन्चुरी आने वालों की भारी भीड़ को देखते हुए इस साल से यहां जिप्सी व कैंटर की तत्काल बुकिंग भी शुरू की गई हैं। आप यहां रणथम्भौर किला भी घूम सकते हैं। साथ ही चंबल नदी में बोट सफारी का आनंद भी उठा सकते हैं। सवाई माधोपुर रेलवे स्टेशन की दीवारों पर वाइल्डलाइफ की बेहतरीन पेंटिंग स्थानिय कलाकारों ने बनाई है, जिसकी खूबसूरती देखते ही बनती है। इसे बिलकुल भी मिस मत करना।

यह भी पढ़ें – https://www.indiamoods.com/sound-sleep-avoid-8-mistakes/

Animal Home में बनते हैं गेस्ट, दुधवा टाइगर रिजर्व

यह पार्क उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में स्थित है। दिल्ली से यहां की दूरी लगभग 453 किमी है। यहां आप बाघ, बारासिंघा, एक ंिसंघ वाला गैडा आदि देख सकते हैं। वाइल्ड लाइफ सफारी के लिए ओपन जिप्सी में जा सकते हैं। गैंडों को देखने के लिए एलिफैंट सफारी किया जा सकता है।