फिटनेस के Dangerous तरीकों को पसंद नहीं करते अंगद बेदी

Angad Bedi 1
Angad Bedi 1

फिटनेस के Dangerous तरीकों को अंगद बेदी सिर से खारिज़ करते हैं। वे नेचुरल फिटनेस में भरोसा करते हैं।फिटनेस की बात करें तो अंगद को बॉलीवुड में अग्रणी माना जाता है। ऑन और ऑफ-स्क्रीन दोनों स्तर पर अपने जबरदस्त शारीरिक फिटनेस के जरिए इस अभिनेता ने स्लिमिंग पिल्स औऱ प्रोटीन पाउडर पर बिना एक भी पैसा खर्च किए लगातार एक बेंचमार्क स्थापित किया है।

फिटनेस के Dangerous तरीकों यानी कृत्रिम फिटनेस में यकीन नहीं

अंगद ने कभी भी फिटनेस के कृत्रिम विकल्पों की वकालत नहीं की है औऱ इसी का परिणाम है कि एक बार फिर उन्होंने पाउडर को बढ़ावा देने वाले एक ऑफर को ठुकरा दिया है। इसका कारण यह है कि, अंगद फिटनेस के कृत्रिम विकल्पों को प्रोत्साहित कर देश के युवाओं के लिए गलत उदाहरण स्थापित नहीं करना चाहते।

angad
angad

अंगद बॉलीवुड के कुछ वैसे चुनिंदा मेल सेलेब्रिटीज में से एक हैं, जिन्होंने बेहतर जीवन शैली के तौर पर लोकप्रिय जिम संस्कृति के विपरीत कार्डियो के लिए बाहरी व्यायाम के जरिए समग्र कल्याण की अवधारणा को आगे बढ़ाने का काम किया है। https://www.indiamoods.com/hubby-angad-to-take-neha-to-maldives-for-birthday-vacation/

ऐसा कर वे सक्रिय रूप से जीवन जीने के एक स्वस्थ और प्राकृतिक तरीके को बढ़ावा दे रहे हैं।इस संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि, अगर हम ऑन स्क्रीन नजर डालें तो कई ऐसे लोग हैं, जिनकी फिटनेस और शारीरिक गठन को देख लोग उनकी तरह बनना चाहते हैं और इसमें कुछ भी गलत नहीं है।

फिटनेस के Dangerous तरीकों को छोड़कर देसी चीजें अपनाते हैं

लेकिन यह भी समझना होगा कि इस तरह के शारीरिक गठन और फिटनेस हासिल करने के लिए वर्षों के समर्पण, निष्ठा और दृढ़ संकल्प की जरूरत होती है। अगर आप किसी के शरीर में एक या दो महीने में बदलाव देखते हैं, तो इसका मतलब यह है कि वे जो भी कहते हैं वह मानवीय रूप से संभव नहीं है। इन दिनों मैं बेहतर प्रदर्शन के लिए ग्रोथ हॉर्मोन्स, प्रोटीन पाउडर और फैट लॉस पिल्स का काफी प्रचलन देख रहा हूं।

अंगद कहते हैं कि ये सब चीजें आपको तात्कालीक परिणाम तो दे सकती हैं, लेकिन मुझे लगता है कि शरीर बनाने के लिए लंबी अवधि तक इन कृत्रिम पदार्थों का प्रयोग हमेशा हानिकारक साबित होता है।