एमजे अकबर पर अमेरिकी पत्रकार ने ￰रेप का आरोप

मीटू मुहिम की तहत यौन उत्पीड़न के आरोपों के बाद केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री के पद से इस्तीफ़ा देने वाले एमजे अकबर पर एक अमेरिकी पत्रकार बलात्कार का आरोप लगाया है.

अमेरिका के एक प्रमुख मीडिया हाउस की संपादक ने पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर 23 साल पहले भारत में अपने साथ बलात्कार करने का आरोप लगाते हुए कहा कि ‘प्रतिभाशाली पत्रकार’ ने एक अखबार का प्रधान संपादक होने के नाते अपने पद का इस्तेमाल कर उनका यौन शोषण किया.

 

बहरहाल, अकबर के वकील ने इन आरोपों से इनकार किया है.

अकबर के खिलाफ कई महिलाओं ने यौन शोषण के आरोप लगाए हैं. इसके बाद 67 वर्षीय अकबर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केंद्रीय मंत्रिमंडल से अक्टूबर में इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने भारत में ‘मी टू’ अभियान के जोर पकड़ने के बीच अपने खिलाफ आरोप लगाने वाली महिलाओं में से एक पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा भी दायर किया है.

 

फिलहाल वाशिंगटन स्थित अमेरिकी मीडिया संगठन नेशनल पब्लिक रेडियो (एनपीआर) की बिजनेस डेस्क की मुख्य संपादक पल्लवी गोगोई ने अकबर के खिलाफ बलात्कार के आरोप लगाए हैं.

 

गोगोई ने ‘द वाशिंगटन पोस्ट’ में एक लेख में अपनी जिंदगी के ‘सबसे कष्टकारी क्षणों’ के बारे में विस्तार से लिखा है.

 

अकबर के वकील संदीप कपूर ने कहा, ‘मेरे मुवक्किल इन आरोपों को झूठा बताते हैं और स्पष्ट रूप से इससे इनकार करते हैं.’ गोगोई ने कहा कि उस समय ‘एशियन एज’ अखबार के प्रधान संपादक अकबर एक प्रतिभाशाली पत्रकार थे लेकिन उन्होंने अपने पद का इस्तेमाल कर उनका यौन शोषण किया.

 

उन्होंने कहा, ‘मैं जो साझा कर रही हूं वे मेरे जीवन के सबसे कष्टदायी पल हैं. मैंने 23 वर्षों तक उन्हें दबा कर रखा.’ उन्होंने इस बारे में विस्तार से बताया कि कैसे अकबर ने नयी दिल्ली से मुंबई-जयपुर-लंदन तक एशियन एज में काम करते हुए वर्षों तक उनका शारीरिक तथा मानसिक शोषण किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here