यूपी में यमुना के बाद गंगा नदी के किनारे भी मिले शव, कोविड से मरने वालों की लाशें होने का संदेह

ganga corpses

यमुना के बाद गंगा नदी के किनारे पर उत्तर प्रदेश में शव मिलने लगे हैं। इससे पहले बिहार में भी गंगा के पानी में शव देखे गये थे। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में यमुना नदी के बाद अब बलिया और गाजीपुर जिलों में गंगा नदी के तट पर कई शव मिलने से सनसनी फैल गई और दहशतजदा लोगों द्वारा संदेह भी जताया जा रहा है कि यह कोविड-19 से जान गंवाने वालों की लाशें हैं।

यह भी पढ़ें:24 घंटे में 3,53,818 कोविड मरीज़ ठीक हुए, 3,66,161 नये केस, दवाओं की कालाबाज़ारी पर सुप्रीम कोर्ट सख्त

deadbodies ganga

यमुना के बाद गंगा नदी में कोरोना से मरने वालों के श‍व फेंके जाने की आशंका

बलिया की जिलाधिकारी अदिति सिंह (Collector Aditi Singh) ने मंगलवार को एक बयान जारी कर कहा है कि नरही थाना क्षेत्र के बलिया-बक्सर पुल के नीचे गंगा नदी में सोमवार को कुछ पुराने अज्ञात क्षत-विक्षत शव देखे गए। उन्होंने कहा कि उपजिलाधिकारी (सदर) एवं क्षेत्राधिकारी (सदर) द्वारा इसकी जांच की गई और सभी शवों को उचित तरीके से गंगा नदी के तट पर पुलिस एवं प्रशासन की उपस्थिति में अंतिम संस्कार कर दिया गया। जिलाधिकारी के मुताबिक शवों के आने के स्रोत के संबंध में जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में Make Shift Hospitals बनाने पर ज़ोर, कोरोना से निपटने की तैयारी में जुटी सरकार

उजियार घाट, कुल्हड़िया घाट और भरौली घाट पर 45 शव मिले

प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार बिहार की सीमा पर स्थित नरही थाना क्षेत्र के गंगा नदी के तट पर सोमवार शाम से शव मिलने शुरू हुए। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार उजियार घाट, कुल्हड़िया घाट और भरौली घाट पर कुल 45 शव मिले हैं, हालांकि प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी संख्या की पुष्टि नहीं कर रहे हैं।

यमुना के बाद गंगा नदी में शव मिलने से हड़कंप

पुलिस अधीक्षक डॉ विपिन ताडा ने बताया कि उन्हें नहीं मालूम कि कुल कितने शव मिले हैं। उन्होंने बताया कि शव पुराने हैं और बिहार में शव को प्रवाहित करने की परंपरा है। घटनास्थल पर पहुंचे एक अधिकारी के अनुसार नदी तट पर हवा का रुख देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि ये शव बिहार की तरफ से बहकर आये हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार शव मिलने का सिलसिला अभी भी जारी है। गाजीपुर से मिली खबर के मुताबिक जिले के गहमर, बारा तथा बिहार के बक्सर जिला के चौसा में गंगा नदी में भारी संख्या में शव देखे गये हैं।