सर्वदलीय बैठक के बाद छलका PDP का पुराना दर्द, Mehbooba Mufti बोलीं-पाकिस्तान से बातचीत होनी चाहिये

PGAD

दिल्ली में हुई आॉल पार्टी मीटिंग से लौटते ही छलका PDP का पुराना दर्द। पार्टी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने पुराना राग अलापते हुए कहा कि ट्वीट करने पर नाबालिग बच्चों को जेल में डाला जा रहा है। दूसरी ओर पूर्व डिप्टी सीएम मुज़फ्फरबेग ने कहा कि बातचीत अच्छे माहौल में हुई और सकारात्मक रही। हालांकि पीडीपी अध्यक्ष ने कहा कि वे केंद्र सरकार के साथ बात करने के लिए हमेशा तैयार हैं। आगे भी बातें होती रहेंगी, लेकिन इसके पहले विश्वास बहाली के उपायों को लागू किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मेरे पिता बातचीत के पक्षधर थे, लोकतंत्र का मतलब संवाद करने से है। संवाद से मुंह नहीं मोड़ सकते।

‘जम्मू-कश्मीर बन गया है खुली जेल-महबूबा

PGAD ALL PARTY

सर्वदलीय बैठक के बाद जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती का दर्द अब जाकर उभरा है. शनिवार को उन्होंने इंडिया टुडे के दिए एक साक्षात्कार में कहा कि केंद्र सरकार विश्वास बहाली पर विशेष ध्यान देना चाहिए.उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर एक खुला जेल बन गया है और लोगों को केवल मुंह खोलने पर ही कैद कर दिया जा रहा है. इस डर की वजह से वे अपने घरों की चहारदीवारी के अंदर ही फुसफुसाते रहते हैं. आज स्थिति यह है कि भारत में असहमति को अपराध बना दिया गया है.

यह भी पढ़ें: All Party Meet में शामिल होंगे PAGD नेता, विशेष दर्जे समेत कई अहम मसलों पर केंद्र करेगा चर्चा

छलका पीडीपी का पुराना दर्द-नेताओं का कर दिया गया अपराधीकरण

महबूबा ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के नेताओं का अपराधीकरण कर दिया गया, लेकिन अब यह केवल महबूबा मुफ्ती या केवल जम्मू-कश्मीर तक ही सीमित नहीं है. देश भर के युवा छात्रों को कैद किया जा रहा है. जमानत अपवाद बन गई है. कोई कायदा-कानून बचा नहीं रह गया. यह बात दीगर है कि जम्मू-कश्मीर के लोगों को देश के दूसरे लोगों से भले ही बुरा माना जाता है.

ट्वीट पर भेजा जा रहा जेल

महबूबा ने आगे कहा कि राज्य में कारोबार में गिरावट आ रही है. युवा उदास हैं. मेरे लिए चिंता का विषय यह है कि पीड़ित लोगों को राहत दी जाए. उन्होंने कहा कि क्या आप इस बात की कल्पना कर सकते हैं कि वास्तव में लोगों के साथ क्या हो रहा है? एक नाबालिग को केवल एक ट्वीट करने पर जेल भेजा रहा है. असहमति को अपराध बना दिया गया है. आपको अपने लोगों के साथ ऐसा नहीं करना चाहिए.

छलका पीडीपी का पुराना दर्द, कहा-पाकिस्तान से शुरू करनी चाहिए बातचीत

महबूबा ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के पीड़ित नागरिकों की स्थिति में सुधार के लिए केंद्र सरकार को पाकिस्तान के साथ बातचीत करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि लोग चाहते हैं कि भारत-पाकिस्तान बात करें. मैंने सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी से कहा कि आप चीन से बात कर रहे हैं, पाकिस्तान से भी करें.

यह भी पढ़ें: All Party Meet-पीएजीडी की बैठक कल, PDP ने महबूबा मुफ्ती को दिया फैसले का अधिकार

पीएम से कही है दिल की बात

उन्होंने कहा कि हम दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपने दिल की बात कहने आए हैं. उन्होंने हमें बुलाया, हम आए और हमने वही कहा, जो हमारे दिल में है. उन्होंने कहा कि मुझे यह पता नहीं कि पीएम ने हमें क्यों बुलाया, लेकिन यह अच्छा है. वह केंद्र सरकार के साथ हुई बातचीत को जम्मू-कश्मीर में जो रहा है, उसे बताने को लेकर इस्तेमाल करना चाहती हैं.