Bone Ghee आप खाते हैं ? पूजा वाला घी Veg है या Non Veg? एक रिपोर्ट पढ़िये और रेड-ग्रीन मार्क डिसाइड करिये

Bone Ghee आप खाते हैं ? वैसे तो घी प्योर वेज होता है। इसमें वेज या नाॅन वेज का सवाल ही नहीं। लेकिन बहुतेरे मुनाफाखोरें ने इसे बोन घी बना दिया है। यह घी सेहत तो लील रहा है। साथ ही वेज वालों को नाॅन वेज बना रहा है। यदि प्योर घी खाने या पूजा में इस्तेमाल करना है तो स्वयं घी बनाना ही बेहतर है।

Pure Ghee

गलाई जाती है जानवरों की चर्बी

Bone Ghee चमड़ा सिटी के नाम से मशहूर कानपुर में जाजमऊ से गंगा जी के किनारे-किनारे 10 -12 किलोमीटर के दायरे में आप घूमने जाओ तो आपको नाक बंद करनी पड़ेगी। यहां सैंकड़ों की तादात में गंगा किनारे भट्टियां धधक रही होती हैं। इन भट्टियों में जानवरों को काटने के बाद निकली चर्बी को गलाया जाता है।

Fake Ghee Making

Bone Ghee आप खाते हैं ? जानिये कैसे बनता है नकली घी

Bone Ghee आप खाते हैं ? इस चर्बी से मुख्यतः 3 चीजे बनती हैं।
1- एनामिल पेंट (जिसे हम अपने घरों की दीवारों पर लगाते हैं)
2- ग्लू (फेविकोल इत्यादि, जिन्हें हम कागज, लकड़ी जोड़ने के काम में लेते हैं)
3- और तीसरी जो सबसे महत्वपूर्ण चीज बनती है वो है शुध्द देशी घी

कहा जाता है पूजा वाला घी, 120 से 150 रुपए किलो बिकता है, भंडारे में प्रयोग

यही देशी घी यहां थोक मंडियों में 120 से 150 रूपए किलो तक भरपूर बिकता है। इसे बोलचाल की भाषा में पूजा वाला घी बोला जाता है। इसका सबसे ज्यादा प्रयोग भंडारे कराने वाले करते हैं। लोग 15 किलो वाला टीन खरीद कर मंदिरों में दान करके पूण्य कमा रहे हैं।

Ghee making Steps in home

Bone Ghee आप खाते हैं ? इसकी पहचान है मुश्किल

बढ़िया रवे दार दिखने वाला ये जहर सुगंध में भी एसेंस की मदद से बेजोड़ होता है। औधोगिक क्षेत्र में कोने कोने में फैली वनस्पति घी बनाने वाली फैक्टरियां भी इस जहर को बहुतायत में खरीदती हैं। अब आप स्वयं सोच लो आप जो वनस्पति घी खाते हो उसमे क्या मिलता होगा। आप घी में बना सकते हैं।  इसके लिए पिक्चर को फॉलो करें।

https://www.indiamoods.com/chef-kunal-kapoor-authentic-taste-traveling-indian-food-global/