Action on 20 Policemen in Bikru case-गैंगस्टर विकास दुबे कांड से जुड़े मामले में कार्रवाई, महकमे में खलबली

vikas dube arrest
vikas dube arrest

Action on 20 Policemen in Bikru case-यूपी के चर्चित बिकरू कांड में गैंगस्टर विकास दुबे से संबंध रखने वाले पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की शुरुआत हो गई है। चौबेपुर एसओ रहे विनय तिवारी और हल्का इंजार्च को दारोगा केके शर्मा पर पहले ही कार्रवाई की जा चुकी, विभाग जांच के बाद 20 सिपाही और इंस्पेक्टर पर कार्रवाई तय कर दी गई है। वहीं सात पुलिस कर्मियों को मिस कंडक्ट मिला है। इसके बाद पुलिस महकमे में खलबली मची है।

बिकरू गांव में दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर हुई थी फायरिंग

दो जुलाई 2020 की रात चौबेपुर थानाक्षेत्र के बिकरू गांव में दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर गैंगस्टर विकास दुबे व उसके गुर्गों ने फायरिंग कर दी थी। इसमें सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। इसमें चौबेपुर एसओ रहे विनय तिवारी और हल्का इंचार्ज रहे दारोगा केके शर्मा के विकास से संबंध सामने आए थे। इसपर शासन ने मुख्य अभियुक्त विकास दुबे के संबंध रखने वाले पुलिस कर्मियों की जांच कराई थी तो 37 पुलिस कर्मियों के नाम पता चले थे। विनय तिवारी और केके शर्मा को पहले ही गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया था, बाकी पुलिस कर्मियों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया था। इसके बाद आरोपित पुलिस कर्मियों के खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू कराई गई थी।

यह भी पढ़ें: #VikasDubeyEncounter- अजब विकास की गजब कहानी खत्म

Action on 20 Policemen in Bikru case

बिकरू कांड को लेकर गठित विशेष जांच टीम (एसआइटी) की रिपोर्ट में दोषी मिले पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई अब तय है। 37 अराजपत्रित पुलिस कर्मियों में तत्कालीन एसओ विनय तिवारी और केके शर्मा को छोड़कर बाकी के सात लोगों को मिस कंडक्ट मिला है, जबकि दो की मृत्यु हो चुकी है और चार सेवानिवृत्त हो चुके हैं। चार की जांच लखनऊ से चल रही है। कार्रवाई से पहले नोटिस देकर आरोपितों का पक्ष मांगा गया है।

5 अधिकारी हो चुके हैं रिटायर

वहीं, नौ क्षेत्राधिकारी की फाइल जांच के बाद शासन भेज दी गई है। इनमें से पांच सेवानिवृत्त हो चुके हैं, जबकि चार पर आरोप सही मिले हैं। आइपीएस अफसरों की जांचें शासन में ही लंबित हैं। एडीजी कानपुर जोन भानु भास्कर ने बताया कि एसआइटी की रिपोर्ट के आधार पर जिन पुलिसकर्मियों की जांच शुरू हुई थी, उनमें दोषी पाए जाने वालों पर कार्रवाई की जा रही है

यह भी पढ़ें:जिस कार में गैंगस्टर विकास दुबे बैठा था वही पलटी ? Encounter पर उठ रहे सवाल

इन्हें मिली थी severe punishment, अब कार्रवाई

  • विनय कुमार तिवारी, तत्कालीन थाना प्रभारी चौबेपुर : फैसला नहीं
  • केके शर्मा, तत्कालीन हलका प्रभारी, चौबेपुर : फैसला नहीं
  • अवनीश कुमार सिंह, उपनिरीक्षक कृष्णा नगर, लखनऊ : जांच जारी
  • अजहर इशरत, उपनिरीक्षक व विवेचक, चौबेपुर : दोषी मिले-नोटिस
  • वीरपाल सिंह और विश्वनाथ मिश्रा, उपनिरीक्षक चौबेपुर : दोषी-नोटिस
  • अभिषेक कुमार, आरक्षी चौबेपुर : दोषी-नोटिस
  • राजीव कुमार, प्रशिक्षु आरक्षी, चौबेपुर : मिस कंडक्ट

Action on 20 Policemen in Bikru case-इन्हें मिला था लघु दंड, अब कार्रवाई

  • राममूरत यादव, वर्तमान थाना प्रभारी बजरिया: दोषी मिले-नोटिस
  • अंजनी कुमार पांडेय, तत्कालीन थाना प्रभारी कृष्णानगर : जांच जारी
  • दीवान सिंह, उपनिरीक्षक, चौबेपुर: मिस कंडक्ट
  • लायक सिंह, मुख्य आरक्षी, चौबेपुर: मिस कंडक्ट
  • विकास कुमार व कुंवरपाल, आरक्षी, चौबेपुर: मिस कंडक्ट

ये हैं एडीजी की जांच के दायरे में

  • एसके वर्मा, तत्कालीन थाना प्रभारी बजरिया : मृत्यु
  • काजी मोहम्मद इब्राहिम, तत्कालीन थाना प्रभारी बजरिया : सेवानिवृत्त
  • वेद प्रकाश,तत्कालीन थाना प्रभारी चौबेपुर : सेवानिवृत्त
  • लालमणि सिंह, तत्कालीन थाना प्रभारी चौबेपुर : सेवानिवृत्त
  • मुकेश कुमार,तत्कालीन थाना प्रभारी चौबेपुर : दोषी-नोटिस
  • बृजकिशोर मिश्रा, तत्कालीन थाना प्रभारी चौबेपुर : दोषी-नोटिस
  • धर्मवीर सिंह, तत्कालीन थाना प्रभारी रूरा : सेवानिवृत्त
  • राकेश कुमार श्रीवास्तव, तत्कालीन थाना प्रभारी शिवली : दोषी-नोटिस
  • संजय सिंह, तत्कालीन थाना प्रभारी चौबेपुर : मृत्यु
  • राधेश्याम यादव, तत्कालीन थाना प्रभारी चौबेपुर : दोषी-नोटिस
  • सतीशचंद्र यादव, तत्कालीन थाना प्रभारी चौबेपुर : दोषी-नोटिस
  • राकेश कुमार, तत्कालीन थाना प्रभारी चौबेपुर : दोषी-नोटिस
  • जितेंद्रपाल सिंह, तत्कालीन थाना प्रभारी नजीराबाद : दोषी-नोटिस
  • सूबेदार सिंह, तत्कालीन थाना प्रभारी शिवली : दोषी-नोटिस
  • दीवान गिरि, तत्कालीन थाना प्रभारी शिवली : मिस कंडक्ट
  • सुजीत कुमार मिश्रा : उपनिरीक्षक, नजीराबाद : मिस कंडक्ट
  • अजय कुमार त्रिपाठी, उपनिरीक्षक कृष्णानगर, लखनऊ : जांच जारी
  • इंद्रपाल सरोज, तत्कालीन उपनिरीक्षक, चौबेपुर : दोषी-नोटिस
  • लवकुश सिंह चौहान, तत्कालीन उपनिरीक्षक रूरा : दोषी-नोटिस
  • संजय कुमार, तत्कालीन उपनिरीक्षक शिवली : दोषी-नोटिस
  • सुरेश कुमार तिवारी: बीट प्रभारी अभिसूचना इकाई कल्याणपुर : सेवानिवृत्त
  • बैजनाथ गौड़ : हेड मोहर्रिर कृष्णानगर, लखनऊ : जांच जारी
  • धर्मेंद्र सिंह : बीट मुख्य आरक्षी अभिसूचना इकाई कल्याणपुर : दोषी-नोटिस