Aaj Ka Panchang 6 March, जानें Saturday के शुभ मुहूर्त, दिशाशूल आदि की स्थिति

Saturday को अष्टमी तिथि 18:11 तक तदोपरान्त नवमी है। अष्टमी तिथि के स्वामी भगवान शिव जी हैं तथा नवमी तिथि की स्वामिनि दुर्गा जी हैं। आज के दिन पूर्व दिशा की यात्रा नहीं करना चाहिए यदि यात्रा करना ज्यादा आवश्यक हो तो घर से अदरक खाकर जायें। Saturdayके दिन पीपल के नीच हनुमान चालीसा पढ़ने और गायत्री मंत्र का जाप करने से भय नहीं लगता है और समस्त बिगड़े काम बनने लगते हैं। इस तिथि में नारियल नहीं खाना चाहिए तथा यह तिथि आभूषण, रत्न खरीदने और धारण करने के लिए शुभ है। दिन का शुभ मुहूर्त, दिशाशूल की स्थिति, राहुकाल एवम् गुलिक काल की वास्तविक स्थिति के बारे में जानकारी आगे दी गई है।

Shani dev aarti : https://www.youtube.com/watch?v=gObz1H0pHn8

06 मार्च 2021 दिन- Saturday का पंचाग

  • सूर्योदयः- प्रातः 06:20
  • सूर्यास्तः- सायं 05:57
  • विशेषः- शनिवार के दिन पीपल के नीच हनुमान चालीसा पढ़ने और गायत्री मंत्र का जाप करने से भय नहीं लगता है और समस्त बिगड़े काम बनने लगते हैं।
  • विक्रम संवतः- 2077
  • शक संवतः- 1942
  • आयनः- दक्षिणायन
  • ऋतुः- बसंत ऋतु
  • मासः- फाल्गुन माह
  • पक्षः- कृष्ण पक्ष
  • तिथिः- अष्टमी तिथि 18:11तक तदोपरान्त नवमी
  • तिथि स्वामीः- अष्टमी तिथि के स्वामी भगवान शिव जी हैं तथा नवमी तिथि की स्वामिनि दुर्गा जी हैं।
  • नक्षत्रः- ज्येष्ठा 21:38 तक तदोपरान्त मूल
  • नक्षत्र स्वामीः- ज्येष्ठा नक्षत्र के स्वामी बुध देव हैं तथा मूल नक्षत्र के स्वामी केतु है।
  • योगः- वज्र 18:08 तक तदोपरान्त सिद्धि
  • गुलिक कालः- शुभ गुलिक 06:41 से 08:09 तक
  • दिशाशूलः- आज के दिन पूर्व दिशा की यात्रा नहीं करना चाहिए यदि यात्रा करना ज्यादा आवश्यक हो तो घर से अदरक खाकर जायें।
  • राहुकालः- राहु काल 09:37 से 11:04 तक
  • तिथि का महत्वः- इस तिथि में नारियल नहीं खाना चाहिए तथा यह तिथि आभूषण, रत्न खरीदने और धारण करने के लिए शुभ है।

यह भी पढ़ें: https://www.indiamoods.com/sitting-under-the-tree-jai-chaudhary-of-himachal-among-the-top-10-richest-indians/