Sunday Panchang 16 May’21, आज इलायची खाकर यात्रा प्रारंभ करें

Sunday को की गई सूर्य पूजा से व्यक्ति को घर-परिवार और समाज में मान-सम्मान की प्राप्ति होती है। रविवार के दिन उगते हुए सूर्य को देव को एक ताबें के लोटे में जल, चावल, लाल फूल और रोली डालकर अर्ध्य करें। Sunday को आदित्य ह्रदय स्रोत्र का पाठ करें एवं यथा संभव मीठा भोजन करें। सूर्य को आत्मा का कारक माना गया है, सूर्य देव को जल देने से पितृ कृपा भी मिलती है।

भैरव जी के दर्शन करें


रविवार के दिन भैरव जी के दर्शन, आराधना से समस्त भय और संकट दूर होते है, साहस एवं बल की प्राप्ति होती है। रविवार के दिन जी के दर्शन अवश्य करें ।
रविवार के दिन भैरव जी के मन्त्र ” ॐ काल भैरवाय नमः “ या ” ॐ श्री भैरवाय नमः “ की एक माला जाप करने से समस्त संकट, भय दूर होते है, रोगो, अकाल मृत्यु से बचाव होता है, मनवांछित लाभ मिलता है।

Sunday का पंचांग

  • 🔮 विक्रम संवत् 2078 आनन्द, विक्रम सम्वत संवत्सर तदुपरि खिस्ताब्द आंग्ल वर्ष 2021
  • 🔯 शक संवत – 1943,
  • ☸️ कलि संवत 5122
  • ☣️ अयन – उत्तरायण
  • 🌦️ ऋतु – सौर ग्रीष्म ऋतु
  • 🌤️ मास – बैशाख माह
  • 🌒 पक्ष – शुक्ल पक्ष,
  • 📆 तिथि – चतुर्थी प्रात: 10.02 तक तत्पश्चात् पंचमी
  • 📝 तिथि का स्वामी – चतुर्थी के स्वामी भगवान विघ्नहर्ता गणेश जी और पंचमी के स्वामी नाग देवता जी है।
  • 💫 नक्षत्र – आर्द्रा – 11:14 तक
  • 🪐 नक्षत्र के देवता, ग्रह स्वामी- आर्द्रा नक्षत्र के देवता रूद्र ( शिवजी ) जी है ।
  • 🔔 योग – शूल – 17 मई 02:52 तक
  • ⚡ प्रथम करण : – विष्टि – 10:00 तक
  • ✨ द्वितीय करण : – बव – 22:51 तक
  • 🔥 गुलिक काल : – अपराह्न – 3:00 से 4:30 तक ।
  • ⚜️ दिशाशूल – रविवार को पश्चिम दिशा का दिकशूल होता है । यात्रा, कार्यों में सफलता के लिए घर से पान या घी खाकर जाएँ ।
  • 🤖 राहुकाल -सायं – 4:30 से 6:00 तक ।
  • 🌟 अभिजित मुहूर्त पूर्वान्ह 11:50 एएम से 12:45 पीएम तक
  • 🔯 विजय मुहूर्त दोपहर 02.34 पीएम से 03.28 पीएम तक
  • 🗣️ निशिथ काल रात 11.57 एएम से 12.38 एएम तक (17 मई)
  • 🐃 गोधूलि मुहूर्त शाम 06.52 पीएम से 07.16 पीएम तक
  • 👸🏻 ब्रह्म मुहूर्त सुबह 04.06 एएम से 04.48 एएम तक (17 मई)
  • ❄️ रवि योग सुबह 05:30 एएम से 11:14 एएम तक
  • 🚕 यात्रा शकुन- इलायची खाकर यात्रा प्रारंभ करें।
  • 🌴 वनस्पति तंत्र उपाय-बेल के वृक्ष में जल चढ़ाएं।
  • 🌞 सूर्योदय – प्रातः 05:53
  • 🌅 सूर्यास्त – सायं 18:33



Most-Popular-Hindu-Goddess-Names
Most-Popular-Hindu-Goddess-Names

आज का मंत्र, आज का उपाय

आज का मंत्र-ॐ घृणि: सूर्याय नम:। आज का उपाय-मंदिर में गुड़ चढ़ाएं। व त्योहार- जवान श्री संदीप शहादत दिवस, श्री चर्चित अलेमाओ जन्म दिवस, राष्ट्रीय डेंगू दिवस, अंतर्राष्ट्रीय प्रकाश दिवस। विशेष – चतुर्थी तिथि को मूली एवं पञ्चमी तिथि को बिल्वफल त्याज्य बताया गया है। इस चतुर्थी तिथि में तिल का दान और भक्षण दोनों त्याज्य होता है। इसलिए चतुर्थी तिथि को मूली और तिल एवं पञ्चमी को बिल्वफल नहीं खाना न ही दान करना चाहिए। चतुर्थी तिथि एक खल और हानिप्रद तिथि मानी जाती है। इस चतुर्थी तिथि के स्वामी गणेश जी हैं तथा यह चतुर्थी तिथि रिक्ता नाम से विख्यात मानी जाती है। यह चतुर्थी तिथि शुक्ल पक्ष में अशुभ तथा कृष्ण पक्ष में शुभफलदायिनी मानी गयी है।

Surya Namaskar Mantra – Sunday Morning Chants – https://www.youtube.com/watch?v=Y73GBSB9S68