A Melodious Career In Music- संगीत के क्षेत्र में सुनहरा करियर कैसे बनाएं

music
music

A Melodious Career In Music- music बेहतर करियर ऑप्शन बन गया है। रियलिटी शो में अपनी संगीत कला का हुनर दिखाकर कई कलाकारों ने देश-विदेश में नाम किया है। भारतीय संगीत की दुनियाभर में अलग पहचान है। और तो और मन की शांति और कई रोगों के इलाज के लिए भी भारतीय संगीत का उत्तम उपयोग होता है। आजकल संगीत, और विशेषकर भारतीय संगीत, एक महत्वपूर्ण प्रोफेशन बन चुका है और देश-विदेश के युवाओं में इसका क्रेज लगातार बढ़ता ही जा रहा है। संगीत में अपना करियर शुरू करने के लिए आपके पास संगीत में गहरी रुचि रखने के साथ-साथ, संगीत और वाद्ययंत्रों की सही समझ और परिश्रम करने का धैर्य जैसे गुण भी होने चाहिए।

A Melodious Career-कैसे करें शुरूआत

संगीत एक ऐसा माध्यम है, जिससे अपनेआप को लोग सरलता से व्यक्त कर लेते हैं। इस क्षेत्र में पारंगत होना कोई आसान काम नहीं है लेकिन सच्ची लगन और कठिन मेहनत से सफलता प्राप्त की जा सकती है। किसी अच्छे इंस्टीटयूट में एडमिशन लेकर नियमित अभ्यास से आप अपनी कला को निखार सकते हैं। ट्रेनिंग की व्यवस्था छोटे शहरों से लेकर बड़े शहरों तक में उपलब्ध हैं। कोर्सेज ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन के अतिरिक्त सर्टिफिकेट डिप्लोमा एवं पार्ट टाइम प्रकार के हो सकते हैं। विश्वविद्यालयों से लेकर म्यूजिक एकेडमीज तक में इस प्रकार के ट्रेनिंग कोर्सेज स्कूली बच्चों और युवाओं के लिए उपलब्ध रहते हैं। मास्टर डिग्री के बाद संगीत में पीएचडी भी की जा सकती है।

A Melodious Career-अपार संभावनाएं

संगीत से जुड़े बैंड बनाने और परफॉर्म करने का ट्रेंड अब काफी पॉपुलर हो चुका है। इस प्रकार के बैंडस में वोकल आर्टिस्ट (गायक) और इंस्टूमैंट्रल आर्टिस्ट (वाद्ययंत्र कलाकार) दोनों का ही मिक्स देखने को मिलता है। स्कूलों, कॉलेजों और अन्य छोटे लेवल पर तो इस प्रकार के अनेक बैंडस आपको परफॉर्म करते मिल जाएँगे। संगीत में करियर को बहुत से लोग सीमित रूप में सोचते हैं लेकिन इसका दायरा व्यापक होता है। स्टेज परफार्मेंस में म्यूजिक शो, टेलीविजन म्यूजिक प्रोग्राम, म्यूजिक कंपीटिशन, आर्म्ड फोर्सेज बैंड, रॉक और जैज ग्रुप इत्यादि में संगीत के कलाकारों की काफी माँग होती है।

यह भी पढ़ें-Programming Language के फील्ड में नौकरियों की भरमार, ऐसे चुने करियर की राह

इसके अलावा आप म्यूजिक इंडस्ट्री में Music Software Programmer, Composer, Musician, के अलावा म्यूजिक बुक्स की पब्लिशिंग, म्यूजिक स्टूडियो के विभिन्न विभागों में अपनी क्षमतानुसार कार्य कर सकते हैं। संगीत थेरेपिस्ट बनकर लोगों की मानसिक समस्याओं का निदान कर सकते हैं। संगीत की दुनिया में Teaching, Singing, Musician, Recording, Concert, Performer, Live Show, Disc Jockey, Video Jockey and Radio Jockey

के रूप में भी करियर के बेहतर मौके होते हैं।

  • प्रमुख कॉलेज और संस्थान
  • भारतीय कला केंद्र, दिल्ली
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • अखिल भारतीय गन्धर्व महाविद्यालय, मुम्बई
  • इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय, मध्यप्रदेश
  • अजमेर म्यूजिक कॉलेज, अजमेर
  • बनस्थली विद्यापीठ, बनस्थली, राजस्थान
  • भातखंडे म्यूजिक स्कूल, नई दिल्ली
  • बाबासाहेब भीमराव अंबेदकर यूनिवर्सिटी, बिहार
  • बनारस यूनिवर्सिटी, यूपी

सैलरी पैकेज

म्यूजिक के क्षेत्र में सैलरी की बात करें तो आपकी योग्यता ही यहाँ आपकी कमाई तय करेगी। आरजे, वीजे, रेडियो जॉकी के रूप में करियर की शुरुआत करके शुरुआती दौर में करीब 15 हजार रुपये प्रति माह सैलरी पायी जा सकती है। प्ले बैक सिंगर या अलबम के लिए कॉन्ट्रैक्ट बेसिस पर काम मिलता है, जिसमें पेमेंट कलाकार के ऊपर निर्भर करता है। आप निजी रूप से म्यूजिक टीचर बनकर भी अपनी फीस अपने हिसाब से रख सकते हैं। जैसे-जैसे आपकी पहचान बनती जाती है, आपकी आय भी बढ़ती जाएगी।