Oxygen की कमी से हरियाणा के रेवाड़ी में 4 कोरोना मरीजों की मौत, हंगामे के बाद पहुंचे 20 सिलेंडर

oxygen rewari


Oxygen की कमी से रविवार को हरियाणा के रेवाड़ी में कोरोना से पीड़ित 4 मरीज़ों की मौत हो गई। बता दें कि रविवार को रेवाड़ी के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती 4 कोरोना मरीजों की ऑक्सीजन के अभाव में मौत हो गई है।घटना के बाद प्रशासन और सरकार के खिलाफ परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने अस्पताल परिसर में जमकर हंगामा किया और जाम लगा दिया।

विराट अस्पताल में चल रहा है 114 कोरोना मरीजों का इलाज

rewari oxygen incident

शहर के सरकुलर रोड स्थित प्राइवेट विराट अस्पताल में 114 कोरोना मरीजों का उपचार चल रहा है। इनमें बड़ी संख्या में मरीजों को ऑक्सीजन पर रखा गया है। अस्पताल में सबसे अधिक कोरोना मरीज भर्ती हैं और इसे रोजाना लगभग 300 ऑक्सीजन सिलेंडरों की जरूरत होती है। अस्पताल के यूनिट हेड प्रताप यादव ने बताया कि उन्हें मात्र 150 सिलेंडरों की सप्लाई ही मिल रही थी। मरीजों की संख्या के अनुसार ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए कई बार सीएमओ व नोडल अधिकारी को कहा गया और यह चेतावनी भी दी गई कि यदि शीघ्र सिलेंडरों की सप्लाई नहीं की गई तो बड़ी संख्या में मरीजों की मौत हो सकती है।

Oxygen की कमी से मरीज़ों की मौत के बाद लोगों ने किया हंगामा

मृतकों की पहचान दिल्ली के नांगलोई निवासी 45 वर्षीय कृष्ण कुमार, रेवाड़ी के गांव लीलोढ़ की 56 वर्षीय सुशीला देवी, कोसली की 28 वर्षीय मनीषा, टीपी स्कीम कॉलोनी रेवाड़ी के 42 वर्षीय कुलदीप के रूप में हुई है। रविवार दोपहर 3 बजे के करीब जैसे ही मरीजों की मौत की खबर परिजनों व शहरवासियों को लगी तो अस्पताल के बाहर भारी जमावड़ा लग गया और उन्होंने हंगामा करते हुए सरकुलर रोड को जाम कर दिया। हंगामे के आधे घंटे बाद एक वाहन में 20 सिलेंडर अस्पताल पहुंचे।

अपने मरीज को कहीं ओर ले जाओ

ऑक्सीजन के अभाव में अस्पताल में भर्ती एक महिला के रिश्तेदार ने कहा कि अस्पताल से फोन आया कि अपने मरीज को कहीं ओर ले जाओ, क्योंकि यहां
ऑक्सीजन खत्म हो गई है। रिश्तेदारों का आरोप है कि वे चीखते-चिल्लाते रहे, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। उन्होंने आरोप लगाया कि ऑक्सीजन सिलेंडरों की कालाबाजारी हो रही है। उन्होंने कहा कि मृतक मरीजों का दाह संस्कार यहीं सड़कों पर करेंगे। यहां दिल्ली से आए मृतक मरीज कृष्ण कुमार के परिजनों ने कहा कि दिल्ली के अस्पताल में जगह नहीं मिली तो वे मरीज की जान बचाने के लिए रेवाड़ी आए थे, यहां भी उसे मौत मिली। अस्पताल में सिलेंडर पहुंचने से मरीजों को कुछ राहत मिली है। लेकिन 20 सिलेंडरों से कुछ घंटे ही मरीजों की सांसे चल सकती हैं।

Oxygen की कमी से मरीज परेशान,प्रशासन ने मांगे सिलेंडर

अस्पताल प्रशासन ने और अधिक सिलेंडरों की मांग की है। इसी समय सीएमओ सुशील माही भी अस्पताल पहुंच गए, जहां उन्हें पीडि़त परिजनों के गुस्से का शिकार होना पड़ा। सीएमओ ने कहा कि मामले की पूरी जांच की जाएगी।