रोहतांग में 30 सेमी तक ताज़ा बर्फबारी, मनाली-लेह मार्ग बंद, लोग फंसे

himachal rohtang snow
himachal rohtang snow

रोहतांग में 30 सेमी तक बर्फबारी हुई है. इसके बाद रोहतांग दर्रे समेत लाहौल घाटी में सिहरन वाली ठंड का आगाज़ हो गया है। लाहौल की चोटियों पर 30 सेंटीमीटर तक ताजा बर्फबारी के बाद सामरिक महत्व का मनाली-लेह मार्ग बंद हो गया है। सैकड़ों लोग मनाली और लाहौल में फंस गए हैं। सोमवार सुबह मनाली से वाया रोहतांग केलांग के लिए निकली बसें, राशन की गाडि़यां और अन्य निजी वाहन राहनीनाला में फंसे रहे। उधर, केलांग से निकले यात्री वाहन राक्षी ढांक में फंसे रहे। प्रशासन ने पुलिस की मदद से उन्हें सुरक्षित वापस भेजा। https://www.indiamoods.com/himachal-pradesh-gets-seasons-fresh-snowfall/

रोहतांग में 30 सेमी बर्फ, बस सेवा बंद

rohtang 2
rohtang 2

गुलाबा और कोकसर बैरियर से रोहतांग को वाहनों की आवाजाही और सरकारी बस सेवा बंद करने से सैकड़ों लोग दोनों तरफ फंस गए हैं।  लेह से मनाली की तरफ निकले के दर्जनों पर्यटक वाहन और बाइकर लाहौल की सरहद में फंस हुए हैं। वे आगे नहीं जा पा रहे। चंबा के पांगी और लाहौल के सैकड़ों लोग कुल्लू दशहरा के लिए एक दिन पूर्व निकले थे लेकिन अब फंस गए हैं। https://www.indiamoods.com/fresh-snowfall-in-shimla/

tourists-enjoy-in-snow-at-the-rohtang-pass
tourists-enjoy-in-snow-at-the-rohtang-pass

एचआरटीसी केलांग डिपो की तीन बसें राक्षी ढांक से वापस केलांग लौट आई हैं। जबकि लाहौल की तरफ निकली दो बसें राहनीनाला से वापस मनाली लौटी हैं। मौसम बिगड़ते ही पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी होने से अब जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति के लोगों की मुश्किलें बढ़ गई है। बर्फबारी होने से बंद हुए मनाली-लेह मार्ग के चलते लाहौल के सैकड़ों लोगों के कुल्लू दशहरे में आने पर भी संकट के बादल छा गए हैं।

रोहतांग में 30 सेमी बर्फ पड़ी, केलांग में भी आधा फुट हिमपात

rohtang-1200
rohtang-1200

केलांग डिपो के आरएम मंगल चंद मनेपा ने कहा कि रोहतांग दर्रा समेत इसके आसपास के इलाके में लगभग आधा फुट ताजा हिमपात हुआ है। जिस कारण मनाली-लेह हाईवे अस्थाई तौर पर वाहनों की आवाजाही के लिए बंद हो गया है। हालात को देखते हुए सभी यात्रियों को वापस मनाली और केलांग पहुंचाया गया है। इधर लाहौल घाटी में अभी भी आलू की हजारों बोरियां फंसी हैं।

जबकि सस्ती दालों का कोटा अभी तक लाहौल नही पहुंचा है। कोकसर चौकी प्रभारी एएसआई राजेश ने कहा कि बर्फबारी के कारण मनाली जाने वाले वाहनों को कोकसर में रोक दिया गया है। उम्मीद है कि मौसम साफ रहने की सूरत में मंगलवार को रोहतांग दर्रा बहाल हो सकता है। शिमला में हल्की बारिश होने से पोलन से कुछ राहत मिली है।

शिमला में ओलावृष्टि

rohtang snow
rohtang snow

मौसम ने राजधानी शिमला में कई रंग दिखाए। एक ओर जहां सुबह मौसम अच्छा रहा और हल्की धूप भी खिली, वहीं दोपहर बाद मौसम के तेवर अचानक बदल गए और शिमला सहित आसपास के क्षेत्र में तेज़ ओलावृष्टि शुरू हो गई, जिससे शहर की छतें सफेद चादर से ढक गईं। बारिश व ओलावृष्टि का यह क्रम करीब आधे घंटे जारी रहा. यही नहीं, लक्कड़ बाजार मार्ग व संजौली में सड़क पर बिछी सफेद चादर से यातायात कुछ देर के प्रभावित भी रहा।

rohtang 3
rohtang 3

वहीं शिमला के साथ सटे इलाकों कुफरी, नालदेरा व आसपास के क्षेत्रों में ओलावृष्टि हुई। आधा घंटे तक जारी रहने वाली ओलावृष्टि व बारिश के बाद मौसम साफ हो गया। शिमला में इस तरह की ओलावृष्टि पिछले सप्ताह भी हुई थी लेकिन इस बार यह ओलावृष्टि कुफरी नालदेरा और ठियोग व शिमला के साथ लगते जिला सोलन के कुछेक क्षेत्रों में भी हुई जबकि प्रदेश के अन्य क्षेत्रों में बारिश हुई। प्रदेश में सभी क्षेत्रों के अधिकतम तापमान में 2 से 3 डिग्री तक गिरावट आई है।