गर्मी से राहत इस हफ्ते नहीं, दिल्ली, हरियाणा-पंजाब में 10 तक बरस सकते हैं बदरा

Monsoon-tourism-in-kerala
google pic

इस हफ्ते गर्मी से राहत मिलती नहीं दिख रही है। India Meteorological Department की माने तो 10 जुलाई से पहले बदरा नहीं बरसेंगे। IMD ने सोमवार को कहा कि दक्षिण-पश्चिम मानसून 10 जुलाई तक दिल्ली सहित उत्तर भारत के शेष हिस्सों में पहुंच सकता है। अनुमान है कि यह 8 जुलाई से पश्चिमी तट और इससे सटे पूर्व-मध्य भारत सहित दक्षिणी प्रायद्वीप में धीरे-धीरे फिर से सक्रिय होगा। बंगाल की खाड़ी से निचले स्तर पर नम पूर्वी हवाएं 8 जुलाई से पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में धीरे-धीरे चलने की संभावना है। इसके 10 जुलाई तक पंजाब और उत्तरी हरियाणा को कवर करते हुए उत्तर पश्चिम भारत में फैलने का अनुमान है।

चंडीगढ़, हरियाणा में गर्मी से राहत नहीं

monsoon_kerala-3

विभाग ने कहा कि दक्षिण-पश्चिम मानसून के पश्चिम उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली के कुछ और हिस्सों में 10 जुलाई के आसपास आगे बढ़ने की संभावना है। इससे उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत में बारिश के लिए स्थितियां अनुकूल होने की संभावना है।

यह भी पढ़ें: मॉनसून सीजन में भी खुलेगा Corbett National Park, सरकार के फैसले के बाद ‘Project Tiger’ को लेकर उठे सवाल

19 जून से आगे नहीं बढ़ा मॉनसून

जून के पहले ढाई हफ्तों में अच्छी बारिश के बाद, दक्षिण-पश्चिम मानसून 19 जून से आगे नहीं बढ़ा है। दिल्ली, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, पंजाब, पश्चिमी राजस्थान में अभी मानसून का आना बाकी है। विभाग ने जुलाई के लिए अपने पूर्वानुमान में कहा कि इस महीने पूरे देश में अच्छी बारिश होगी। हालांकि, उत्तर भारत के कुछ हिस्सों, दक्षिण प्रायद्वीप के कुछ हिस्सों, मध्य, पूर्व और पूर्वोत्तर भारत में सामान्य से कम बारिश हो सकती है। विभाग ने कहा कि 7 जुलाई तक मानसून की प्रगति के लिए परिस्थितियां अनुकूल नहीं हैं। दक्षिण पश्चिम मानसून की उत्तरी सीमा वर्तमान में अलीगढ़, मेरठ, अम्बाला और अमृतसर से गुजर रही है।

जल्द पहुंचेगा मानसून

बतां दें कि बीते हफ्ते दिल्ली में सोगों को बारिश से थोड़ी राहत मिली थई लेकिन हरियाणा और पंजाब के अधिकतर हिस्सों में बारिश की बंूद तक नहीं बरसी। दूसरी ओर पहाड़ी इलाकों में भी बारिश रोज़ाना हो रही है जबकि देश के कई राज्य बाढ़ और भारी बारिश का सामना कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें:पहाड़ी इलाकों में खूब बरसे मेघा, केरल में 1 जून को आएगा मॉनसून