बकरीद पर जम्मू-कश्मीर में शांति, NSA अजित डोभाल का दौरा

kashmir-eid
kashmir-eid

बकरीद पर जम्मू-कश्मीर में शांति दिखी। जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 खत्म होने के बाद सियासी तकरार के बीच घाटी बकरीद का जश्न मना रहा है। कश्मीर में बकरीद के दौरान अमन-चैन और शांति बनी रही। उधर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल लगातार कश्मीर के अलग-अलग हिस्से में नजर आए। डोभाल आज अचानक लाल चौक, पुलवामा और बेलगाम जैसे इलाकों में पहुंचे और लोगों से मुलाकात की। राज्य में नमाज के दौरान पाबंदियों में ढील भी दी गई थी।

kashmir-1200-14
kashmir-1200-14

बकरीद पर जम्मू-कश्मीर के कई इलाकों में डोभाल का दौरा

NSA डोभाल राज्य में सुरक्षा स्थिति का जायजा लेते दिखे। वह राज्य के कई हिस्सों में लोगों से मिले। डोभाल ने आज श्रीनगर, सौरा, पंपोर, लाल चौक, हजरबल, बडगाम और दक्षिण कश्मीर के जिले पुलवाा, अंवतीपोरा में लोगों से मिले। केंद्रीय गृह मंत्रालय के अनुसार जम्मू कश्मीर में लोग नमाज अदा करने के लिए बड़ी संख्या में बाहर निकले। श्रीनगर और शोपियां में प्रमुख मस्जिदों में नमाज पढ़ी गई। 

प्रशासन ने किसी भी अनहोनी से बचने के लिए अलग-अलग इलाकों की स्थानीय मस्जिदों में ईद की नमाज के लिए इजाजत तो दे दी है लेकिन घाटी की बड़ी मस्जिदों में ज्यादा संख्या में लोगों के एकत्र होने की इजाजत नहीं दी थी। 

बकरीद पर जम्मू-कश्मीर में खुले रहे बैंक, बाज़ार

कश्मीर में ईद-उल-अजहा से पहले रविवार को बैंक, एटीएम और कुछ बाजार खुले रहे। कई प्रतिबंधों में ढील भी दी गई ताकि लोगों को त्योहार से जुड़ी खरीदारी करने में आसानी हो। प्रशासन लोगों के लिए खाने-पीने के सामान के अलावा दूसरी जरूरी चीजों को उपलब्ध कराने और सोमवार को मस्जिदों में नमाज के लिए पूरी व्यवस्था करने में जुटा रहा।

 प्रशासन ने सोमवार को अलग-अलग इलाकों की स्थानीय मस्जिदों में ईद की नमाज के लिए इजाजत तो दे दी थी लेकिन घाटी की बड़ी मस्जिदों में ज्यादा संख्या में लोगों के जुटने की इजाजत नहीं थी। प्रशासन को शक है कि आसमाजिक तत्व बड़ी भीड़ का फायदा उठाने की कोशिश कर सकते हैं।